5 kalma in hindi and urdu तर्जुमे के साथ easy तरीके से

5 kalma in hindi || पांच कलमे

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों इस पोस्ट में आपको में इस्लाम की बुनियाद पांच कलमे सिखाने वाला हु। ये सभी panch kalme हर मुसलमान को आने चाहिए। जिसे तय्यब कलमा नहीं आता वो मुसलमान नहीं हो सकता। इस आर्टिकल में पूरी कोशिश करूँगा की आप कलिमे सिख जाएँ साथ ही मैंने इसमें आपको हिंदी तर्जुमा भी बताया है।

अव्वल कलमा तय्यब

“ला इलाहा इलल्लाहु मुहम्मदुर्रसूलुल्लाहि”

पहला कलमा हिंदी में

لا اله إلا اللهُ محمدُ رسولُ اللهِ.

पहला कलमा उर्दू में

अव्वल कलमा हिंदी तर्जुमा

अल्लाह के सिवा कोई दूसरा नहीं है या माबूद नहीं है और हज़रत मुहम्मद सलल्लाहो अलैहि वसल्लम अल्लाह के सबसे करीब नबी और आखिरी नबी हैं

दूसरा कलमा शहादत

शहादत का मतलब गवाही देना होता है

“अश-हदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु वह दहु ला शरी-क लहू व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु व रसूलुहु”

दूसरा कलमा हिंदी में

أَشْهدُ أنْ لا اله إلا اللهُ، وأشهدُ أنّ! محمدًا عبدُه ورَسُولُهُ.

दूसरा कलमा इन उर्दू

दूसरा कलमा का तर्जुमा

में गवाही देता हु की अल्लाह के सिवा कोई भी नहीं है जो इबादत के काबिल हो। और में ये भी गवाही देता हु की ह. मुहम्मद सलल्लाहो अलैहि वसल्लम अल्लाह के आखिरी नबी और नेक बन्दे हैं।

तीसरा कलमा तम्जीद

“सुब्हानल्लाही वल् हम्दु लिल्लाहि वला इला-ह इलल्लाहु वल्लाहु अकबर, वला हौल वला कूव्-व-त इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अजीम”

3rd कलमा इन हिंदी

سُبْحَانَ اللهِ، والْحَمْدُ للهِ، ولا إلهَ إلًّا اللهُ، والله أكبرُ، ولا حَولَ ولاَ قُوَّةَ إلاّ بِالله الْعَلِيِّ العَظِيمِ.

तीसरा कलमा उर्दू में

तीसरे कलमे का तर्जुमा हिंदी में

अल्लाह की जात सबसे पाक है वही सभी तारीफों का हक़दार भी है और न ही कोई अल्लाह के सिवा माबूद है। वही इबादत के लायक है और अल्लाह बहुत बड़ा है।उस जैसी ताकत किसी में नहीं है अल्लाह सभी ताकतों का मालिक है जो बहुत शान वाला है।

चौथा कलमा तोहिद इन हिंदी

“ला इलाह इल्लल्लाहु वह्-दहु ला शरीक लहू लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युहयी व युमीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ-ब-दन अ-ब-दा जुल-जलालि वल इक् रामि वियदि-हिल खैर व हु-व अला कुल्लि शैइन क़दीर”

4th कलमा इन हिंदी

لا إلهُ إلا اللهُ وَحْدَهُ لا شَرِيكَ لَهُ، له المُلْكُ، وله الحمدُ، يُحْيِ ويُميتُ، وهو الحيُّ لا يَموتُ أبداً أبداً، ذُو الجَلاَلِِ والإكرامِ، بيده الخيرُ، وهُوَ عَلىَ كُلِّ شَيءٍ قَدِيرٍ.

चौथा कलमा उर्दू में

कलमा न. 5 का हिंदी तर्जुमा

कोई भी अल्लाह के सिवा इबादत के लायक नहीं है। अल्लाह एक है उसका कोई शरीक नहीं है या उस जैसा कोई नहीं है। साडी कायनात उसी की है और सभी तारीफें उसी की है। अल्लाह ही मारने और जिन्दा करने वाला है और वो हमेसा जिन्दा रहेगा उसे हरगिज़ कभी मौत नहीं आएगी। वह बुजुर्गी और बड़े जलाल वाला है। उसी के हाथ में हर तरह की भलाई है अरु वह हर चीज पर कदीर है।

पांचवा कलमा इस्तिग़फ़ार हिंदी में

“अस्तग़-फिरुल्ला-ह रब्बी मिन कुल्लि जाम्बिन अज-नब-तुहु अ-म-द-न अव् ख-त-अन सिर्रन औ अलानियतंव् व अतूवु इलैहि मिनज-जम्बिल-लजी ला अ-अलमु इन्-न-क अन्-त अल्लामुल गुयूबी व् सत्तारुल उवूबि व् गफ्फा-रुज्जुनुबि वाला हो-ल वला कुव्-व-त इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अजीम”

5th कलमा इन हिंदी

أستغفرُ اللهَ رَبيِّ مِنْ كُلِّ ذَنْبٍ أَذْنَبْتُهُ، عَمَداً أو خَطَأً، سِرّاً أو عَلَانيةً، وأَتُوبُ إِلَيْهِ” مِنَ الذَنْبِ الّذِي أَعْلَمُ، وَمِنَ الذَنْبِ الذَي لَا أَعْلَمُ، إنَّكَ أَنْتَ عَلَّامُ الغُيُوبِ، وَسَتَّارُ الْعُيُوبِ، وَغَفَّارُ الذُّنُوبِ، وَلاَ حَولَ ولَا قُوَّةَ إِلَّا بِاللهِ العَلِيِّ العَظِيمِ.

पांचवा कलमा उर्दू में

पंचम कलमा हिंदी तर्जुमा

में अल्लाह से सभी उन गुनाहों के लिए तौबा करता हूँ जो मैंने जानकार किये या अनजाने में किये ,छिपकर किये हो या सरेआम किये हों और उन गुनाहो की माफ़ी मांगता हु जो में जानता हु और नहीं जानता हूँ। तू बेसक ग़ैब की बातों को जानता है और ऐबों को छिपाने वाला है और गुनाहों को माफ़ करना वाला है। हम में अल्लाह के बगैर गुनाहों से बचने और नेकी करने की हिम्मत नहीं है जो बहुत बुलंद है।

मुझे उम्मीद है की यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। आप अपनी राय please मुझे comment करके बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *